आज मैंने साल 2016 में रिलीज फिल्म Passengers देखी और फिल्म देख कर मैं वाकई काफी अच्छा महसूस कर रहा हूं। यह एक science fiction, romance फिल्म है जिसे मोर्टन टेल्डम ने डायरेक्ट किया है। फिल्म में क्रिस प्रैट और  जेनिफर लॉरेंस ने मुख्य भूमिका निभाई। इसके अलावा मिशेल शीन और लॉरेंस फिशबर्न सहायक भूमिका में नजर आते हैं। 

STORY : 

फिल्म की कहानी भविष्य में दिखाई गई है। एवलोन नाम का स्लीपर अंतरिक्ष यान 5000 लोगों को लेकर एक दूसरे ग्रह पर जा रहा है जिसे पहुंचने में करीब 120 साल लगेंगे। अंतरिक्ष यान में सभी लोग एक विशेष तकनीक के उपयोग से सुलाए गए हैं जो मंजिल पर पहुंचने पर ही जागेंगे और इस दौरान उन की उम्र भी नहीं बढ़ेगी। 

यान अंतरिक्ष में कुछ उल्का पिंडों से टकरा जाता है जिस कारण इसमें तकनीकी खराबी आ जाती है और जिम प्रेस्टन ( क्रिस प्रैट ) मंजिल पर पहुंचने के 90 साल पहले ही जाग जाता है। करीब 1 साल तक जागा रह कर जिम अकेलेपन का शिकार होता रहता है। एक दिन अचानक उसकी नजर स्लीपिंग चैंबर में सोई अरोरा लेन ( जेनिफर लॉरेंस ) पर पड़ती है और वह उसे चाहने लगता है। अकेलेपन से झूंझता हुआ जिम एक दिन ना चाहते हुए भी अरोरा को स्लीपिंग चैंबर से जगा देता है और फिर शुरू होती है उनके प्यार और तकरार की कहानी। 
अंत में उनका क्या होता है ये जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी। 
कुल मिलाकर फिल्म की कहानी अच्छी है और कहीं पर भी आपको बोर होने का मौका नहीं देती।  

DIRECTION AND VFX :

चूंकि इस फिल्म की कहानी अंतरिक्ष में सेट है तो यहां पर वीएफएक्स और बाकी स्पेशल इफेक्ट्स का काम काफी बेहतरीन तरीके से किया गया है जिसके लिए तकनीकी टीम की तारीफ तो बनती है। निर्देशक मोर्टन टेल्डम ने भी अपना काम बखूबी पूरा किया है और बेहतरीन कहानी को दर्शकों के सामने परोसा है। पूरी फिल्म में कुल चार लोग ही आपको नजर आते हैं इसके बावजूद फिल्म काफी बेहतरीन मनोरंजन प्रदान करती है। 
अगर आपको को अंतरिक्ष में पनपती एक प्रेम कहानी देखनी है तो Passengers आपके लिए अच्छी चॉइस साबित होगी।  

My Rating : 3.5/5